ADMISSION PROCEDURE

General Courses: Students are selected on the basis of merit as per the rules of C.C.S. University, Meerut. Online registration on the university website is mandatory for all students. The students have to register themselves in the college, too. Institution provides prospectus to each student that contains information regarding rules of admission, eligibility criteria for opting different subjects, subject combination, and fee structure for various courses, dress code and other facilities provided by college. Institutional website is also available for the updated information.

Professional Courses: Admissions into B.C.A., B.Sc. (Home Science) and M.Sc. courses is done as per merit (procedure followed is similar to the General Courses). For B. Ed. Course, students are selected through entrance examination which is conducted at the state level. Thereafter, counseling is done at state level and students are allotted the college seats. M.Ed. students are selected through entrance examination which is conducted by the C.C.S. University, Meerut, followed by counseling at the university level for college seat allotment.

Certificate Courses: These courses are optional. Any student enrolled in the college can opt for admission in these courses as per her own choice and interest.

1.3-month Computer Awareness Course

2.English Speaking Course

3.Personality Development Program

4.Tally marketing 9.5 Course

प्रवेश प्रक्रिया

1. किसी भी कक्षा में प्रवेश हेतु कालिज कार्यालय से विवरणिका (प्रास्पैक्टस) प्राप्त कर संलग्न प्रवेश आवेदन पत्र पूर्ण रूपेण भरकर पंजीकरण करवाना होगा।
2. रजिस्ट्रेशन हो जाने का यह अर्थ कदापि नही होगा कि प्रवेश मिल ही जाएगा। विश्वविद्यालय में व्द स्पदम रजिस्ट्रेशन न करवाने, स्थान सीमित होने, समय पर प्रवेश विधि का पालन न करने तथा योग्यता वरीयता में न आने पर प्रवेश आवेदन पत्र निरस्त किया जा सकता है।
3. प्रवेश आवेदन पत्र के प्रत्येक काॅलम को ध्यानपूर्वक पढ़कर सावधानी से अपेक्षित विवरण देना चाहिए। विषयों में सीमित स्थान के कारण एक बार दिया गया विषय किसी भी दशा में परिवर्तित नही किया जा सकेगा।
4. प्रवेश आवेदन पत्र के साथ निम्नलिखित प्रमाण-पत्रों की प्रतियाँ संलग्न करें।
(क) हाई स्कूल या उसके समकक्ष प्रमाण पत्र तथा अंक तालिका (प्रमाणित प्रतिलिपि)
(ख) इण्टरमीडिएट/समकक्ष परीक्षा की अंक तालिका (प्रमाणित प्रतिलिपि)
(ग) माइग्रेशन सर्टीफिकेट/ट्रान्सफर सर्टीफिकेट (पूर्व विश्वविद्यालय/विद्यालय का) मूल रूप में।
(घ) चरित्र प्रमाण पत्र (पिछले विद्यालय का) मूल रूप में।
(ड़) 1. जाति प्रमाण पत्र (आरक्षित वर्ग का) छात्रा के स्वयं के नाम से बना हो (प्रमाणित प्रतिलिपि), 2. आय का प्रमाण पत्र 3. (बीपीएल कार्ड) की छायाप्रति।
(च) शुल्क प्रतिपूर्ति हेतु आवेदन पत्र प्रवेश के समय दो प्रतियों में भरना अनिवार्य है। उपरोक्त तीनों प्रमाण-पत्र इस आशय से संलग्न करने हैं जिससे आरक्षित वर्ग की छात्राओं को समय रहते आरक्षण का लाभ दिया जा सके।

नोट:- प्रवेश पाने के लिए साक्षात्कार के समय ये सभी प्रमाण पत्र मूल रूप में छात्रा को आवश्यक रूप से साथ लाने हैं। मूल प्रमाण पत्र साथ न लाने पर उस दिन प्रवेश पाना सम्भव नहीं होगा। निर्धारित तिथियों में छात्रा द्वारा साक्षात्कार में उपस्थित होने पर ही प्रवेश दिया जा सकेगा।

5. प्रवेश पत्र के प्रवेशाधिकारी द्वारा पारित और हस्ताक्षरित होने के उपरान्त उसी दिन शुल्क जमा कराके उसकी रसीद प्राप्त कर लेनी चाहिए। समय के अन्दर शुल्क जमा न करने पर प्रवेश स्वीकृति निरस्त हो जायेगी।
6. रसीद की भली भाँति जाँच कर लेनी चाहिए तथा उसे पूरे वर्ष संभाल कर रखना चाहिए। किसी भी समय इसकी आवश्यकता पड़ सकती है।
7. प्रवेश क्रम के अनुसार प्रत्येक छात्रा को प्रवेश संख्या प्रदान की जायेगी जो उसकी रसीद पर अंकित रहेगी। इसी संख्या के अनुसार उसे अपने वर्ग (सैक्शन) समय सारिणी (टाइम टेबल) की सूचना मिलेगी। यह संख्या छात्रा को पूर्ण वर्ष याद रखनी होगी।
8. प्रवेश, टाइम टेबिल, वर्ग (सैक्शन) आदि से सम्बन्धित सूचनाओं के लिए छात्रा को नियमित रूप से नोटिस बोर्ड देखना होगा।
9. यदि किसी छात्रा ने संस्थागत छात्रा के रूप में किसी एक विषय में स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण की है या दो वर्ष तक एक या एक से अधिक विषय का अध्ययन किया है, तो उसे संस्था में प्रवेश नहीं दिया जायेगा। उस विषय में व्यक्तिगत छात्रा के रूप में परीक्षा देने की सुविधा उपलब्ध है।
10. आरक्षित वर्ग की छात्राओं को आरक्षण का लाभ लेने के लिए अधिकृत अधिकारी द्वारा बनाया गया छात्रा के नाम का जाति प्रमाण पत्र प्रवेश आवेदन पत्र के साथ लगाना होगा। जो छात्राएं जाति प्रमाण पत्र के आधार पर प्रवेश लेंगी, उनकी सूची बनाकर सम्बन्धित विभाग द्वारा सत्यापित कराई जायेगी। यदि प्रमाण पत्र गलत पाए गए तो प्रवेश निरस्त कर दिया जायेगा।
11. प्रवेश योग्यता वरीयता के आधार पर किये जाएगें परन्तु प्रत्येक कक्षा में अनुसूचित जातियों के 21% अनुसूचित जनजातियों के 2% पिछडे़ वर्गो के लिए 27% स्थान सुरक्षित होंगे। अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की छात्राओं को प्रवेश हेतु निर्धारित मैरिट प्रतिशत में 5% की छूट भी दी जा सकती है।
12. प्रवेश के सम्बन्ध में प्राचार्या का विशेषाधिकार सुरक्षित हैं। कालेज हित में किसी भी छात्रा का प्रवेश बिना बताए रोका जा सकता है।

छात्राओं द्वारा सभी नियमों, परिनियमों का पालन करना होगा तथा चै0 चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ की प्रवेश नियमावली का पूर्णतः पालन करना होगा।